Trending

Public Provident Fund: पोस्ट ऑफिस की नई धमाकेदार स्कीम, जमा करें ₹12500 और मैच्योरिटी पर पाएं ₹1 करोड़ 03 लाख, देखें पूरा कैलकुलेशन |

Public Provident Fund डाकघर में आपको सार्वजनिक भविष्य निधि खाता खोलने का विकल्प मिलेगा। (Public – Provident Fund Account) खाता खोलने के लिए आवश्यक न्यूनतम जमा केवल 500 रुपये है। आपको प्रति वर्ष 1.50 लाख रुपये तक की जमा राशि पर कर का भुगतान करने से छूट प्राप्त है। 15 साल बाद खाते को परिपक्व माना जाएगा। लेकिन मैच्योरिटी पर पहुंचने के बाद इसे पांच से पांच साल के दायरे में और बढ़ाया जा सकता है।

कब और कैसे मिलेगा लाभ?

यहां क्लिक करके देखिए

Public Provident Fund – आज के दौर में 10, 20, 100, 200 रुपये की अहमियत कम लगती है। बढ़ती महंगाई के बीच (small savings schemes) ज्यादा नहीं लगती हैं। लेकिन, यह निवेश की पहली गलती है। छोटी बचत भी बड़े सपने पूरे करती है। यदि आप प्रतिदिन 200 रुपये बचाते हैं, तो यह 6000 रुपये प्रति माह है।

अब इस 6000 रुपए को 1 करोड़ रुपए में बदला जा सकता है। सुना तो होगा लेकिन मुमकिन है। आप रोजाना 200 रुपए बचाकर पब्लिक प्रॉविडेंट फंड जैसी स्कीम में हर महीने निवेश करें। 20 साल बाद आपके पास करीब 32 लाख रुपए होंगे।

पीपीएफ (Public Provident Fund) एक लॉन्ग टर्म सेविंग स्कीम है। इस पर 7.1 फीसदी चक्रवृद्धि ब्याज मिल रहा है. अब इसी से शुरू होता है। करोड़पति बनने की आपकी यात्रा।

सिर्फ 500 रुपये में छत पर लगा सकेंगे सोलर पैनल,

यहां से 18 जून तक तुरंत ऑनलाइन आवेदन करें

पोस्ट ऑफिस में करें Public Provident Fund में निवेश

डाकघर में आपको सार्वजनिक भविष्य निधि खाता खोलने का (Public Provident Fund Account) विकल्प मिलेगा। खाता खोलने के लिए आवश्यक न्यूनतम जमा केवल 500 रुपये है।

आपको प्रति वर्ष 1.50 लाख रुपये तक की जमा राशि पर कर का भुगतान करने से छूट प्राप्त है। 15 साल बाद खाते को परिपक्व माना जाएगा। लेकिन (Maturity) मैच्योरिटी पर पहुंचने के बाद इसे पांच से पांच साल के दायरे में और बढ़ाया जा सकता है।

PPF में 200 रुपये 32 लाख रुपये के बराबर होंगे Rs 200 in PPF will be equal to Rs 32 lakh

उस खाते के परिपक्व होने पर आपके खाते में 31,959,984 रुपये होंगे। गणना 7.1% की वार्षिक ब्याज दर पर आधारित थी। अगर ब्याज दर में बदलाव होता है तो मैच्योरिटी राशि भी शिफ्ट हो सकती है। (Public Provident Fund) खातों पर कंपाउंडिंग साल में एक बार होती है। ब्याज दर विश्लेषण हर तीन महीने में एक बार किया जाता है।

50000/- से 10 लाख रुपये तक का लोन 0% ब्याज,

यहां से करें ऑनलाइन आवेदन|

सार्वजनिक भविष्य निधि में निवेश के लाभ Benefits of Investing in Public Provident Fund

Public Provident Fund पब्लिक प्रॉविडेंट फंड अकाउंट खुलवाने के कई फायदे हैं। सबसे बड़ा फायदा (Tax Savings) टैक्स बचत में होगा।

ऐसा इसलिए है क्योंकि पीपीएफ में सालाना 1.50 लाख रुपये जमा करने पर धारा 80सी के तहत टैक्स छूट मिलती है। परिपक्वता और ब्याज आय भी कर मुक्त है।

सार्वजनिक Public Provident Fund पर Interest की गणना कैसे करें

ध्यान रहे कि पब्लिक प्रॉविडेंट फंड अकाउंट में जो रकम महीने की 5 तारीख तक होती है, उस पर ब्याज जुड़ता है।

इसलिए महीने के 5वें दिन को ध्यान में रखें और उससे पहले अपना मासिक योगदान कर लें। इसके बाद अगर पैसा अब खाते में है तो उसी रकम पर ब्याज जोड़ा जाएगा, जो 5 तारीख से पहले खाते में जमा किया गया था।

3एचपी, 5एचपी और 7.5एचपी के सोलर कृषि पंपों की नई दरें

देखने के लिए यहां क्लिक करें

Public Provident Fund की मैच्योरिटी पर कितना मिलेगा?

  • अधिकतम मासिक जमा: 12,500 रुपये
  • ब्याज दर: 7.1 प्रतिशत प्रति वर्ष
  • 15 साल बाद मेच्योरिटी पर रकम: 40,68,209 रुपये
  • कुल निवेश : 22,50,000 रुपये
  • ब्याज लाभ: 18,18,209 रुपये
  • पोस्ट ऑफिस में कैसे बनेंगे 1 करोड़ कैसे बनाएंगे?
  • अधिकतम मासिक जमा: 12,500 रुपये
  • ब्याज दर: 7.1 प्रतिशत प्रति वर्ष
  • 25 साल बाद मेच्योरिटी पर रकम: 1.03 करोड़ रुपए
  • कुल निवेश : 37,50,000 रुपये
  • ब्याज लाभ: 65,58,015 रुपये

1 करोड़ रुपये कैसे प्राप्त करें? How to get Rs 1 crore?

Public Provident Fund: मुख्य परिपक्वता 15 वर्ष है। हर महीने अधिकतम 12,500 रुपए जमा किए जा सकते हैं।

मतलब सालाना 1.5 लाख रुपए जमा हो सकते हैं। परिपक्वता तक हर महीने की 5 तारीख तक 12500 का योगदान दिया जाएगा। मैच्योरिटी पर 7.1% सालाना ब्याज पर कुल वैल्यू 40,68,209 रुपए होगी।

Public Provident Fund: मेच्योरिटी के बाद 5-5 साल के लिए अकाउंट को एक्सटेंड करने का भी विकल्प है। ऐसे में अगर आप 25 साल तक योगदान जारी रखते हैं तो चक्रवृद्धि ब्याज के साथ आपका निवेश 1.03 करोड़ रुपये हो जाएगा। ऊपर की गणना देखें

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button