Trending

Poultry farm: किसानों को 50 मुर्गियां और 1 पिंजरा मुफ्त मिलेगा।केवल एक आवेदन करें।

Poultry farm नमस्कार किसान भाइयों, माताओं बहनों और दोस्तों आज हम किसान भाइयों के लिए एक सरकारी योजना लेकर आए हैं। और वो योजना किसान भाई-बहनों के लिए बहुत काम आने वाली है। क्योंकि हमारे किसान भाई हमेशा कृषि के साथ कुछ करने के लिए उत्सुक रहते हैं और इस व्यवसाय को अधिकतम करके किसान भाई पशुपालन और मुर्गी पालन के प्रति अधिक उत्साहित हैं। तो दोस्तों आज हम एक ऐसा ही नया प्लान लेकर आए हैं। और वो प्लान है पोल्ट्री प्लान और इस योजना के तहत किसानो को सरकार की तरफ से 50 मुर्गियां और एक पिंजरा फ्री मिलेगा और वो इसके लिए इस तरह से आवेदन कर सकते है। साथ ही हम यह भी जानकारी प्राप्त करने जा रहे हैं कि आवेदन कैसे करना है और किन दस्तावेजों की आवश्यकता है। और सरकार के निर्णयों में क्या निर्णय होते हैं, कहाँ आवेदन करना है और कैसे अनुदान प्राप्त होगा, सभी जानकारी और सभी सवालों के जवाब, आज हम इस खंड में देखेंगे।

किसानों के लिए 50 मुर्गियां और एक पिंजरा मुफ्त पाने के लिए यहां आवेदन करें

आवेदन करने के लिए यहां क्लिक करें

उसके लिए आप किसान भाइयों, माताओं, बहनों और दोस्तों के लिए पूरी खबर पढ़ना बहुत जरूरी है। सरकार निर्णय जीआर (GR) दोस्तों poultry farming agriculture के पूरक के लिए एक अच्छा व्यवसाय है और वर्तमान में चिकन अंडे की बाजार में अच्छी कीमत और मांग है। और दरें बहुत अधिक हैं। महाराष्ट्र सरकार फिलहाल अंडा उत्पादन के लिए सब्सिडी (subsidy) दे रही है। यह ताजा खबर है। इसके बारे में एक आधिकारिक सरकार का फैसला भी है। यहां हम जानने जा रहे हैं कि वास्तव में अंडों की मांग कैसे बढ़ी है।

बिजनेस के लिए आपको सरकार की ओर से कितना लोन मिलेगा और लोन लेने के बाद सरकार की ओर से इस लोन पर आपको कितनी सब्सिडी मिलेगी। यह सारी जानकारी आज हम इस खबर में देखेंगे।

हर महीने मिलेंगे 1500 रुपये 1 से 6 वर्ष के बच्चों को,

ऐसे करें अप्लाई

दोस्तों कोरोना महामारी के दौरान अंडों की डिमांड काफी बढ़ गई। ऐसा इसलिए क्‍योंकि अंडे में विटामिन होते हैं जो रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं। कोरोना महामारी के दौरान कई लोगों ने मुर्गे का मांस खाना बंद कर दिया और मुर्गी पालन का धंधा भी बंद कर दिया. क्योंकि कोरोना महामारी के दौरान मुर्गी पालन के व्यवसाय को भारी नुकसान हुआ क्योंकि बीमारी के कारण चिकन और अंडे को बाजार में बेचना मुश्किल हो गया। इस व्यवसाय में कई किसानों को भारी नुकसान हुआ है।

आज हम सरकार द्वारा एक सरकारी निर्णय लेने के बारे में विस्तृत जानकारी देखने जा रहे हैं ताकि पोल्ट्री फार्मिंग का व्यवसाय अच्छी तरह से शुरू हो सके।

राज्य में जिला वार्षिक सामान्य योजनान्तर्गत समेकित कुक्कुट पालन योजना वर्ष 2010 से संचालित है। इस योजना से कई किसान और अन्य साथी लाभान्वित हुए हैं। युवा योजनान्तर्गत लाभार्थी कृषकों को अंडा उत्पादन हेतु तालंगा समूह 50 प्रतिशत उपदान के साथ आबंटित किया जाता है तथा इस समूह में 25 तालंगा एवं तीन नर मुर्गियाँ तथा 100 एक दिवसीय उन्नत कुक्कुट समूह हैं तथा यह अनुदान इस प्रकार दिया जाता है। Poultry farm

इस दिन 14 वें हफ्ते के 2000 नहीं बल्कि 4000 जमा होंगे

यहां क्लिक करके देखिए फिक्स तारीक

पोल्ट्री फीड में वृद्धि के साथ-साथ पोल्ट्री पार्टियों द्वारा आवश्यक दवाओं और परिवहन की लागत में वृद्धि के कारण सरकार द्वारा दी जाने वाली सब्सिडी में भी काफी वृद्धि हुई है।

इसके चलते इस योजना में तेलंगा और नरकोम्बाडे ​​तथा कुकुट पक्षी Narcombade and Kucut Bird के समूह में एक दिन पहले मिलने वाली सब्सिडी को बढ़ाकर कुछ प्रावधान तय किए गए हैं। इसके लिए सब्सिडी (subsidy) में अच्छी खासी बढ़ोतरी की गई है। जिला वार्षिक सामान्य समेकित विकास योजना के सहयोग से बटेरों के एक समूह एवं अण्डा उत्पादन हेतु एक मुर्गी का मूल्य 50 प्रतिशत अनुदान पर सरकार द्वारा वार्षिक सामान्य पचास प्रतिशत अनुदान पर वितरित किये जाने का निर्णय सरकार के निर्णयानुसार .

किसानों को मिलेगा प्रति हेक्टर 27 हजार रुपये का फसल बीमा,

किसान मंजूर लिस्ट में यहा से देखे अपना नाम

दोस्तों इस तरह की सब्सिडी (subsidy) को बढ़ाया गया है और अगर आप भी इस योजना में आवेदन करना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें और ऊपर दिए गए लिंक पर क्लिक करके सरकारी फैसला देखें। Poultry farm

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button