Trending

NCP Political Crisis: उपमुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद अजित पवार का NCP पर दावा

NCP Political Crisis एकनाथ शिंदे ने मुख्यमंत्री पद की शपथ लेकर राज्य की राजनीति में हलचल मचा दी थी. इस घटना के एक साल बाद अब अजित पवार ने सरकार में शामिल होने का फैसला किया है. Maharashtra Politics Crisis

Maharashtra Politics Crisis अजित पवार ने आज बीजेपी के साथ जाने का फैसला किया. अजित पवार ने राजभवन में उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली. अजित पवार के अलावा आठ विधायकों ने भी मंत्री पद की शपथ ली. मंत्री पद की शपथ लेने के बाद अजित पवार ने एनसीपी पार्टी पर मुकदमा कर दिया है. पिछले साल एकनाथ शिंदे ने 40 विधायकों के साथ बगावत कर दी थी. एकनाथ शिंदे ने मुख्यमंत्री पद की शपथ लेकर राज्य की राजनीति में हलचल मचा दी थी. इस घटना के एक साल बाद अजित पवार ने एनसीपी विधायकों के साथ सरकार में शामिल होने का फैसला किया है. मंत्री पद की शपथ लेने के बाद अजित पवार ने एनसीपी पार्टी पर मुकदमा कर दिया है. अजित पवार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा है कि वह 2024 का चुनाव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में लड़ेंगे. इसके अलावा हम शिवसेना के साथ जा सकते हैं, बीजेपी के साथ क्यों नहीं? अजित पवार ने भी कहा.

अजित पवार की बगावत पर शरद पवार ने प्रतिक्रिया दी

यहां क्लिक करके देखिए क्या बोले शरद पवार

अजित पवार ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि वरिष्ठों से चर्चा के बाद यह फैसला लिया गया है. क्या शरद पवार अजित पवार के इस फैसले का समर्थन करते हैं? यह सवाल भी उठाया गया है. अजित पवार की बगावत पर शरद पवार ने अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है. उन्होंने यह भी कहा कि भविष्य के सभी चुनाव घड़ी चुनाव चिह्न पर लड़े जाएंगे। राज्य के हित को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है.

देश को मजबूत नेतृत्व की जरूरत है. मैंने सालगिरह पर स्पष्ट रुख रखा था. युवाओं को अवसर देना जरूरी है.’ नए कार्यकर्ताओं को आगे लाना चाहिए, मैं ऐसा करता रहूंगा। भले ही कोरोना था, लेकिन विकास हमारी भूमिका थी। हमें काम की परवाह है. केंद्रीय राशि राज्य को कैसे मिलेगी, इसकी पहल हम करें. यह फैसला लेते समय अजित पवार ने कहा कि ज्यादातर विधायक इस फैसले से सहमत हैं.

मार्च में ओलावृष्टि से प्रभावित किसानों के लिए अच्छी खबर..!

इन 9 जिलों को फंड मंजूर.

Maharashtra Politics Crisis हम एनसीपी के रूप में सत्ता में आए हैं।’ हम पार्टी सिंबल से चुनाव लड़ेंगे. नागालैंड में चुनाव हुए, जहां पार्टी का मुकाबला बीजेपी से हो गया है. कुछ लोग आरोप लगाएंगे कि यह निर्णय साढ़े तीन साल पहले किया गया था। फिर माविया ने काम किया. हम शिवसेना के साथ भी जा सकते हैं और बीजेपी के साथ भी जा सकते हैं. अजित पवार ने कहा कि पार्टी इसे आगे ले जाने की कोशिश करेगी.

Maharashtra Politics Crisis

आज हम फैसला लेंगे, शिवसेना-बीजेपी और एनसीपी के सभी विधायकों ने सरकार में शामिल होने का फैसला किया है. जैसा कि हमने कसम खाई थी, विस्तार होने जा रहा है।’ अन्य साथियों को भी मौका देने का प्रयास होगा। इस संबंध में कई तरह की चर्चाएं शुरू हो जाएंगी. वरिष्ठ स्तर पर चर्चा हुई. सबका ध्यान रखते हुए विकास को महत्व दिया चाहिए श्री मोदी एक अच्छा प्रयास कर रहे हैं क्योंकि वह पिछले 9 वर्षों से प्रभारी हैं। हमें उस स्थिति का समर्थन करना चाहिए. विपक्षी दल एकजुट होने की कोशिश कर रहे हैं. कई जगह अलग-अलग सवाल हैं. अजित पवार ने कहा कि विपक्षी पार्टी की ओर से कोई आउटपुट नहीं है.

इन किसानों के खाते में आयेंगे 14वीं किस्त के ₹2000 की जगह 4000 रूपये

लिस्ट में अपना नाम चेक करें

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});