Trending

Crop insurance: बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि से 20 जिलों की 35 हजार हेक्टेयर फसलों को हेक्टेरी नुकसान भरपाई 32 हजार रुपये और पशुओं की मृत्यु पर 37 हजार रुपये मिलेंगे यहां देखे अपने जिलों नाम |

crop insurance बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि से किसानों को भारी loss of crops नुकसान पहुंचा है. कई राज्यों में हजारों एकड़ फसलें बर्बाद हुई हैं. मध्य प्रदेश भी उन राज्यों में शामिल है…

loss of crops मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि ओलावृष्टि से निर्मित संकट में राज्य सरकार किसानों के साथ खड़ी है। ओलावृष्टि से प्रभावित जिलों में सर्वे का कार्य आरंभ कर दिया गया है। एक सप्ताह में सर्वे कार्य पूर्ण कर किसानों को तत्काल राहत उपलब्ध कराई जाएगी।

इन जिलो के लोगोको मिलेगा हेक्टेरी 32000 हजार रुपये नुकसान भरपाई

यहां क्लिक करके देखिए आपके जिलेका नाम

मध्य प्रदेश में बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि से फसलों को भारी नुकसान हुआ है। सरकार की अब तक की रिपोर्ट के अनुसार अब तक 20 जिलों में फसल प्रभावित हुई है। प्रारंभिक सर्वे के मुताबिक 51 तहसीलों के 520 ग्रामों में 38 हजार 900 कृषकों की 33 हजार 758 हेक्टेयर फसल को नुकसान पहुंचा है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को नुकसान की समीक्षा बैठक की। जिसमें अधिकारियों को 25 मार्च तक सर्वे पूरा करने को कहा है।

खेतों में 60 से 90 प्रतिशत फसल को नुकसान
सरकार के प्रारंभिक सर्वे में 51 तहसीलों में नुकसान की बात कही जा रही है। हालांकि जिलों से मिली जानकारी के अनुसार 25 मार्च तक पूरा होने वाले सर्वे में आकड़ा दोगुना से ज्यादा बढ़ सकता है। ओलावृष्टि और बेमौसम बारिश से किसानों की 60 से 90 प्रतिशत तक फसल बर्बाद हुई है। प्रदेश के 12 जिलों में आकाशीय बिजली गिरने से 22 लोगों की मृत्यु हुई हैं।

जिन किसानों का लिस्ट में नाम होगा इन किसानों को कर्ज चुकाने की कोई जरूरत नहीं इन किसानों का होगा 100% कर्ज माफ

यहां देखें लिस्ट में अपना नाम।

सीएम बोले- सरकार किसानों के साथ खड़ी है

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि ओलावृष्टि से निर्मित संकट में राज्य सरकार किसानों के साथ खड़ी है। ओलावृष्टि से प्रभावित जिलों में सर्वे का कार्य आरंभ कर दिया गया है। एक सप्ताह में सर्वे कार्य पूर्ण कर किसानों को तत्काल राहत उपलब्ध कराई जाएगी। सर्वे के लिए राजस्व, कृषि और पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभागों के संयुक्त दल गठित किए गए हैं। सर्वे में कोई लापरवाही न हो, सर्वे ईमानदारी और संवेदनशीलता के साथ हो और प्रत्येक प्रभावित किसान को राहत मिले, इसका विशेष ध्यान रखा जाए कि किसी भी किसान का खेत सर्वे से न छूटे। पशु हानि की भी सूचना आई है। जिसकी भरपाई भी सरकार करेंगी।  crop insurance

पीएम आवास योजना के ₹250000 रूपये खाते में जमा होने लगे, 70 लाख घरकुल

लिस्ट की में अपना नाम चेक करें

फसल बीमा का लाभ भी मिलेगा

मुख्यमंत्री ने कहा कि सर्वे के साथ ही प्रभावित किसानों और उन्हें हुए नुकसान की सूची पंचायतों में चस्पां की जाए। किसानों की ओर से प्राप्त आपत्तियों का निराकरण कर पूरी संवेदना और पारदर्शिता के साथ नुकसान का आंकलन किया जाए। किसानों को राहत राशि के साथ अद्यतन तकनीक से किए गए क्रॉप कटिंग एक्सपरिमेंट के आधार पर Crop Insurance Policy का लाभ उपलब्ध कराया जाएगा। किसानों को समय रहते नुकसान की भरपाई के लिए सर्वे के समानांतर ही Crop Insurance Policy के लिए आवश्यक कार्यवाही की जाए। इससे आरबीसी 6-4 में दी जाने वाली तात्कालिक राहत की राशि और फसल बीमा योजना का सहारा किसानों को मिल सकेगा। फसलों के नुकसान के अलावा पशुहानि के लिए बढ़ी हुई राशि के अनुरूप राहत प्रदान की जाएगी। crop insurance

50 हजार रुपए कर्जमाफी की आखिरी लिस्ट आई

यहां देखें जिलेवार लिस्ट में अपना नाम |

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});